दिग्विजय में पहली बार आॅनलाईन कैम्पस प्लेसमेंट परीक्षा संपन्न

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के रोजगार एवं मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के द्वारा प्राचार्य डाॅ.के.एल. टांडेकर के मार्गदर्शन में बाल्को ग्रुप कोरबा द्वारा आॅनलाईन कैम्पस प्लेसमेंट संपन्न कराया गया। यह प्लेसमेंट स्नातकोत्तर विद्यार्थियों के लिए था जिसमें महाविद्यालय के एम.एस.सी. के 18 विद्यार्थियों भाग लिया। इस कैम्पस प्लेसमेंट का आयोजन महाविद्यालय के रोजगार एवं मार्गदर्शन प्रकोष्ठ एवं कम्प्यूटर साइंस विभाग के संयुक्त तत्वावधान कम्प्यूटर साइंस विभाग में किया गया। रोजगार मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के संयोजक डाॅ. संजय ठिसके ने बताया कि पहली बार इस तरह के आॅनलाईन कैम्पस प्लेसमेंट का आयोजन किया जा रहा है। आॅनलाईन परीक्षा के पश्चात् ग्रुप डिस्कशन एवं पर्सनल इन्टरव्यूव का आयोजन किया जाएगा। प्लेसमेंट परीक्षा के दौरान रोजगार मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के सदस्य एवं रजिस्ट्रार श्री दीपक कुमार परगनिहा विभागाध्यक्ष कम्प्यूटर साइंस श्री राजू खुटे एवं श्री रवि साहू उपस्थित थे।

समाज कार्य विभाग द्वारा मजदूर दिवस का आयोजन

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय राजनांदगांव के प्राचार्य डॉक्टर के एल टाँडेकर के मार्गदर्शन एवं समाज कार्य विभाग के विभागाध्यक्ष श्रीमती ललिता साहू के निर्देशन मेंग्राम पदुमतरा में राष्ट्रीय मजदूर दिवस का आयोजन किया गया जिसमें ग्राम पदुमतरा के मजदूर वर्ग को जागरूक करने एवं उनके अधिकारों के बारे में बताने तथा मजदूर वर्गों के लिए केंद्र शासन एवं राज्य शासन द्वारा चलाए गए कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी देने हेतु यह आयोजन किया गया समाज कार्य विभाग के विद्यार्थियों के द्वारा मजदूर दिवस के उपलक्ष्य में भाषण कविता प्रस्तुत किया गया जिसमें मुख्य रुप से नुक्कड़ नाटक के माध्यम से मजदूर वर्ग को यह संदेश दिया गया की उनके क्या-क्या अधिकार हैं एवं किस प्रकार से वे अपने ऊपर हो रहे शोषण को रोक सकते हैं इस कार्यक्रम में समाज कार्य की विभागाध्यक्ष श्रीमती ललिता साहू ने ग्राम पंचायत पदुमतरा के जनप्रतिनिधियों मजदूर वर्गों का आभार व्यक्त करते हुए कहा की मजदूर विश्व के कल्याण एवं विश्व की आर्थिक संचालन हेतु महत्वपूर्ण योगदान देते हैं इनके बगैर जीवन की कल्पना भी करना संभव नहीं है। हम सभी को यह चाहिए कि हम हर मजदूर का सम्मान करें आदर करें और उन्हें उनके अधिकारों के बारे में बताएं उन्हें शोषण से मुक्त होने हेतु जागरूक करें यह हम सभी का कर्तव्य है
ग्राम पंचायत पदुमतरा के सरपंच श्रीमती ललिता मोहन साहू ने समाज कार्य विभाग को इस कार्यक्रम के आयोजन हेतु धन्यवाद ज्ञापान किये साथ ही उन्होंने ऐसा ही उद्देश्य परक कार्यक्रम अपने गांव में करने हेतु समाज कार्य भाग से आग्रह भी किया । अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस कार्यक्रम में अतिथि के रूप में
ओम प्रकाश साहू , (जनपद सभापति), विधायक प्रतिनिधि
ललिता मोहन साहू ,( सरपंच )
राकेश साहू ( पंच )
कुमारी साहू (पंच)।
खुमान बंजारे ( पटेल ) समाज कार्य विभाग के समस्त छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

माइक्रोबायोलॉजी विभाग में भूतपूर्व छात्र- छात्राओं की बैठक का आयोजन

शासकीय महाविद्यालय मे माननीय प्राचार्य डॉ के. एल. टांडेकर के कुशल निर्देशन मे व माइक्रोबायोलॉजी विभाग की विभागाध्यक्ष प्रो. सविता चंद्रवंशी व प्रो .पंकज कुमार भारती के तत्वाधान मे आज दिनांक 05/05/2022 को भूतपूर्व छात्र- छात्राओं की बैठक का आयोजन कराया गयाI जिसमे राकेश कुमार,  काजल तिवारी, राम कुमार सोनवानी, लालिमा साहु एवम प्रगति नोनहरे सहित विभिन्न भूतपूर्व छात्र छात्राये उपस्थित हुएI उनके द्वारा M.Sc. के विद्यार्थियों के साथ अपने अनुभव साझा कियेI कार्यक्रम की शुरुवात विभागाध्यक्ष के उदबोधन के साथ हुई जिसमे एलुमनी का स्वागत एवम्  अभिनंदन किया गया I उसके पश्चात सभी एलुमनी ने अपना परिचय दिया I भूतपूर्व छात्र राकेश कुमार  (Microbiologiest) ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहां की नकारात्मक विचारधारा वाले लोगो से दूर रहने की सलाह दिए साथ ही माइक्रोबायोलॉजी मे रोजगार के विभिन्न अवसरों क़े बारे मे बताया I प्रगति नोनहरे व काजल तिवारी ने विषम परिस्तिथियों मे हार न मानने की सलाह दीI सभी एलुमनी से माइक्रोबायोलॉजी विभाग से संबंधित सुझाव भी लिए गये I विभागाध्यक्ष प्रो. सविता चन्द्रवंशी ने अपने उदबोधन मे एलुमनी मिटिंग के महत्व को समझाते हुए एलुिमनी एशोसिएशन मे अपनी सदस्यता के लिए फॉर्म भरने के लिए प्रेरित किया I कार्यक्रम का संचालन प्रो. पंकज कुमार भारती ने किया I स्वागत एवम् आभार प्रदर्शन विभागाध्यक्ष द्वारा किया गया I साथ ही इस बैठक मे MSc पुर्व एवम अंतिम के छात्र- छात्राओं की भी सहभागिता रही। छात्राओं की भी सहभागिता रही।

राज्य स्तरीय योगासन प्रतियोगिता में दिग्विजय महाविद्यालय के विद्यार्थियों की सहभागिता

छत्तीसगढ़ योग आयोग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय योगासन प्रतियोगिता में दिग्विजय महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ.के.एन. टांडेकर के मार्गदर्शन में योग विभाग के 12 विद्यार्थियों ने एकल एवं समूह प्रतियोगिता में भाग लिया। योग प्रभारी श्रीमती पूर्वी वर्मा के प्रशिक्षण द्वारा सभी योग के विद्यार्थियों ने सामूहिक योग नृत्य की मनमोहक प्रदर्शन किया तथा एकल प्रतियोगिताओं में योग छात्रा अमिता पुरामे, रेवती साहू तथा सखीना आत्रामे एवं लोमेश कुमार साहू की प्रस्तुती सराहनीय रही। सभी विद्यार्थियों को योग आयोग द्वारा प्रमाण पत्र, ट्रैकसूट प्रदान किये गये। सभी विद्यार्थियों का मानना था कि इस 3 दिवसीय सेमीनार में उन्हें बहुत कुछ सीखने और जानने का अवसर प्राप्त हुआ। सभी विद्यार्थियों ने प्राचार्य डाॅ.के.एल. टांडेकर तथा योग प्रभारी पूर्वी वर्मा को हृदय से धन्यवाद दिया।

महंत राजा दिग्विजय दास की जयंती पर महाविद्यालय परिवार द्वारा कृतज्ञ स्मरण

राजनांदगांव! उच्च शिक्षा के स्वप्नदृष्टा दानवीर महंत राजा दिग्विजय दास की जयंती पर शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय परिसर में स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्र्यापण कर भावांजली अर्पित की गई। .प्राचार्य डाॅ. के.एल. टांडेकर ने महाविद्यालय की स्थापना में महंत राजा दिग्विजय दास जी के उदार योगदान को चिरस्मरणीय निरुपित किया। इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. शैलेन्द्र सिंह ने राजा महंत दिग्विजय दास के संक्षिप्त जीवनी पर प्रकाश डाला।
उक्त अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक, रजिस्ट्रार, अधिकारी, कर्मचारी एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे। सभी ने राजा साहब को पुष्पांजलि अर्पित की।

डॉ. बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जयंती समारोह

समाजशास्त्र विभाग द्वारा डॉ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के जन्म दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया . कार्यक्रम प्राचार्य डॉके. एल.टांडेकर के मार्गदर्शन में संपन्न हुआ . प्राचार्य महोदय ने अपने उद्बोधन में डॉक्टर अंबेडकर के युग निर्माता के रूप में कार्यों का वर्णन किया. उन्होंने यह भी बताया कि किस प्रकार डॉ अंबेडकर आजीवन दलित वर्ग के कल्याण व समतावादी समाज के निर्माण हेतु प्रयासरत रहे. भारतीय संविधान के निर्माण द्वारा समस्त भारतवंशी आजीवन उनका ऋणी रहेगा. प्राचार्य महोदय ने विद्यार्थियों को अपने जीवन में कर्तव्य परायण, उद्यमी व चरित्र निर्माण हेतु प्रेरित किया. कार्यक्रम में समाजशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ एके मंडावी द्वारा डॉ बाबा साहब अंबेडकर का संक्षिप्त जीवन परिचय दिया गया. उनके द्वारा समाज में व्याप्त कुरीतियों एवं शिक्षा जन जागरण हेतु किए गए प्रयासों का उल्लेख किया गया. समाजकार्य विभाग अध्यक्ष श्रीमती ललिता द्वारा डॉ बाबासाहेब अंबेडकर के जीवन के सामाजिक राजनीतिक व धार्मिक कार्यों का उल्लेख किया गया. एकमात्र भारतीय जिनका संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा जन्म दिवस मनाया जाता है तथा उन्हें युग निर्माता की उपाधि दी गई .इस संबंध में प्रकाश डाला गया. कार्यक्रम में विद्यार्थी निशा कुमारी आकांक्षा पांडे, संगीता, कीर्तिपाल, प्रिया साहू, प्रिया सोनी तेजस्वी वर्मा, राहुल यादव,शुभममिश्रा ने भाषण, कविता पाठ एवं प्रेरणा गीत द्वारा अंबेडकर के विचारों को रखा. कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन श्री शोभित साहू अतिथि व्याख्याता समाज कार्य विभाग के द्वारा किया गया. कार्यक्रम में समाजशास्त्र एवं समाज कार्य के सभी विद्यार्थी उपस्थित रहे.

संस्कृत विभाग में राष्ट्रीय ई-व्याख्यान माला का आयोजन

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के संस्कृत विभाग द्वारा राष्ट्रीय ई-व्याख्यान माला का आयोजन किया गया जिसमें देश के विभिन्न प्रान्तों के केंद्रीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के प्राध्यापकों ने विभिन्न विषयों पर मार्गदर्शन किया। प्राचार्य डॉ. के. एल. टांडेकर के निर्देशन में आयोजित इस राष्ट्रीय ई-व्याख्यान माला की संयोजिका संस्कृत विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. दिव्या देशपांडे,आयोजन सचिव डॉ. ललित प्रधान आर्य एवं सह सचिव डॉ.महेंद्र नगपुरे थे ।व्याख्यान माला के प्रथम पुष्प के रूप में डॉ. राघवेंद्र शर्मा, सहायक प्राध्यापकदृसाहित्य, शासकीय संस्कृत महाविद्यालय,रायपुर (छ.ग.)ने अलङ्कार शास्त्र विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।व्याख्यान माला के द्वितीय पुष्प के रूप में डॉ. धनंजयमणि त्रिपाठी, सहायक प्राध्यापकदृसंस्कृत, जामिया मिल्लिया इस्लामिया केन्द्रीय विश्वविद्यालय,नई दिल्ली ने श्रीमद्भगवद्गीता का शैक्षिक निहितार्थ विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।व्याख्यान माला के तृतीय पुष्प के रूप में डॉ. नौनिहाल गौतम, सहायक प्राध्यापकदृसंस्कृत डॉ. हरिसिंह गौर केन्द्रीय विश्वविद्यालय,सागर(म.प्र.) ने लौकिक छन्द: परिचय एवं व्यावहारिक प्रयोग विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।व्याख्यान माला के चतुर्थ पुष्प के रूप में डॉ. कैलाश शास्त्री,सहायक प्राध्यापकदृसंस्कृत,सोनपुर महाविद्यालय,सोनपुर (ओड़ीशा) ने वर्तमान में संस्कृत की प्रासंगिकता विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।व्याख्यान माला के पंचम पुष्प के रूप में डॉ. संदीप कुमार,सहायक प्राध्यापकदृसंस्कृत,एन.ए. एस. महाविद्यालय,मेरठ (उ.प्र.) ने शब्दशक्ति विचार विषय पर व्याख्यान प्रस्तुत किया।इस राष्ट्रीय ई-व्याख्यान माला में न केवल दिग्विजय महाविद्यालय के संस्कृत विभाग के स्नातक एवं स्नातकोत्तर के अपितु सम्पूर्ण देश से विभिन्न प्राध्यापकों एवं विद्यार्थियों ने सहभागिता की। ई-व्याख्यान माला के व्याख्यानों को यूट्यूब के माध्यम से भी लाइव किया गया।सहभागियों से मिमकइंबा प्राप्तकिए गए एवं उन्हें ई-प्रमाणपत्र भी प्रदान किया गया।

संस्कृत विभाग द्वारा एक दिवसीय नेट-सेट की तैयारी हेतु कार्यशाला आयोजित

शासकीय दिग्विजय स्वशासी महाविद्यालय के संस्कृत विभाग द्वारा प्राचार्य डॉ. के. एल. टांडेकर जी के मार्गदर्शन में एक दिवसीय नेटध् सेट की तैयारी हेतु कार्यशाला आयोजित की गयी। इस एकदिवसीय नेटध्सेट प्रशिक्षण कार्यशाला में डॉ. अखिलेश कुमार मिश्र, अतिथि व्याख्याता, संस्कृत पालि एवं प्राकृत विभाग,रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय,जबलपुर(म.प्र.) ने वदसपदम माध्यम गूगल मीट द्वारा नेटध्सेट परीक्षाओ हेतु मार्गदर्शन किया। इस अवसर पर प्राचार्य डॉ. के. एल. टांडेकर जी ने इस प्रकार के आयोजनों की प्रशंसा की तथा विद्यार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित होने हेतु प्रेरणा दी। डॉ. अखिलेश कुमार मिश्र जी ने संस्कृत विषय से संबंधित नेट दृ परीक्षाओं के आवेदन पत्र,पाठ्यक्रम,तैयारी की रणनीति,उपयोगी पुस्तकों इत्यादि सभी विषयों पर विस्तृत प्रकाश डाला।साथ ही विद्यार्थियो की समस्याओं का समाधान भी किया। इस कार्यशाला में न केवल दिग्विजय महाविद्यालय अपितु सम्पूर्ण देश से विद्यार्थी सम्मिलित हुए। 58 विद्यार्थियों ने इस कार्यशाला में सहभागिता की। कार्यक्रम मे विभाग की अध्यक्षा डॉ. दिव्या देशपांडे, डॉ. ललित प्रधान तथा डॉ.महेंद्र नगपुरे उपस्थित थे।

M.S.W विभाग के विद्यार्थी खेल विधा में हुए सम्मानित

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय राजनांदगांव में आयोजित वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में समाज कार्य विभाग (msw )के छात्र उज्जवल कुर्रे को शतरंज विधा में विश्वविद्यालय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए के लिए महाविद्यालय द्वारा मोमेंटो एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. के एल टांडेकर एवं समाज कार्य विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर श्रीमती ललिता साहू एवं समाजशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ ए.के मंडावी ने छात्र को शुभकामनाएं एवं बधाई दिये तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना किए

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में उत्कृष्ट खिलाडियों को पुस्कार वितरण समारोह का आयोजन

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय राजनांदगांव के प्राचार्य डॉ.के.एल.टांडेकर मार्गदर्शन में एवं क्रीड़ा विभाग अधिकारी अरुण चैधरी के नेतृत्व मे वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में जनभागीदारी समिति अध्यक्ष रईस अहमद शकील, महेन्द्र बहादुर सिंह मनीष गौतम, आनंद सारर्थी, मो0 इब्राहम, महेन्द्र सिंह ठाकुर, एच एस भाटिया, सुश्री पुष्पा सावरकर उपस्थित रहे. संस्था के प्राचार्य डॉ. के. एल. टांडेकर ने जीवन में खेल की उपयोगिता क्या है उसके बारे में विस्तार से बताया।
जनभागीदारी अध्यक्ष रईस अहमद शकील ने कहा कि इस महाविद्यालय के विद्यार्थी ने पढाई के साथ – साथ खेल में भी महाविद्यालय का नाम राज्य एवं देश में गौरान्वित किया है जो की बडे हर्ष का विषय है साथ ही उन्होंने कहा कि जो विद्यार्थी ने जीत हासिल नही की उन्हें निराश होने की जरुरत नहीं है आप अपना लक्ष्य बनाये रखे और उस पर मेहनत करे आप जरुर सफल होगें। साथ ही महाविद्यालय में ज्ञानेश्वरी यादव ने वेडलिफिंग में अंतराष्टीय स्तर पर चयन हुआ है उन्हें बधाई दी एवं महाविद्यालय प्रशासन की ओर ने उन्हें 10,000 रुपये एवं जनभागीदारी समिति की ओर से उन्हें 11,000 रुपये देने की घोषणा की। हमारे महाविद्यालय की टीचर स्टाफ सुश्री पुष्पा सावकर ने रिटायमेंट के बाद 50,000 महाविद्यालय को दिया एवं हर वर्ष 10,000 रुपये जनभागीदारी को देने की घोषणा की जिस हेतु उन्होने धन्यवाद ज्ञापित किया एवं उत्कृष्ट खिलाडियों को पुस्कार वितरण किया गया।
क्रीडा अधिकारी अरुण चैधरी ने बताया कि महाविद्यालय द्वारा इस सत्र फुटबाॅल, बाॅलीबाॅल, कबड्डी, खो-खो, टेबल टेनिस, बैडमिटन, शंतरज, बाॅस्केटबाॅल, हैण्डबाॅल, लान टेनिस, कुश्ती नेटबाॅल, तैराकी, जुडो, वेटलिफिटंग, पाॅवर लिफिटंग क्रिकेट साफट बाल, एथलिटिंक्स, क्रास कन्टी, दौड, हाॅकी आदि खेलों का अभ्यास कराया गया व नगर के श्रेष्ट प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।
महाविद्यालय के 12 छात्र छात्राओं ने अखिल भारतीय खेलों इंडिया प्रतियोगिताओं में भाग लेकर मैडल प्राप्त कर छत्तीसगढ राज्व एवं महाविद्यालय को गौरान्वित किया 66 खिलाडियों ने राष्टीय स्तर की ओपन खेल प्रतियोगिता में हाॅकी, शतरंज, नेटबाॅल, साफटबाॅल, कबड्डी , टेबल टेनिस, हैंड बाॅल क्रांस कन्टी दौड क्रिकेट एथलेटिक्स वेटलिफिंटग व पाॅवर लिफटिंग खेलों में भाग लिया 31 खिलाडियो ने अखिल भारतीय प्रतियोगिताओं एवं खिलाडियो ने अंतरविश्वविद्यालय खेल प्रतियोगिताओं में हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग एवं महाविद्यालय का प्रतिनिधित्व किया। छत्तीसगढ शासन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा संचालित सेक्टर स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं में 209 खिलाडियों ने महाविद्यालय का प्रतिनिधित्व किया। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय द्वारा संचालित खेलों के अन्तर महाविद्यालयीय खेल प्रतियोगिता में 116 खिलाडियो ने महाविद्यालयीन का प्रतिनिधित्व किया।
महाविद्यालय के बीए प्रथम वर्ष की छात्रा ज्ञानेश्वरी यादव ने अखिल भारतीय वेट लिफिंग प्रतियोगिता में भाग लेकर रजत पदक प्राप्त किया। वर्तमान में जूनियर वर्ड चैंपियनशीप प्रतियोगिता में भाग लेगीं। बीए प्रथम वर्ष छात्र देवकुमार यादव व विक्रम ने अखिल भारतीय अंतरविश्वविद्यालयीन साफट बाॅल प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर चतुर्थ स्थान प्राप्त किया।
कार्यक्रम में मुख्य रुप से विषु आजमानी, शैलेष रामटेके, शुभम कसार, हनिफ खान, प्राध्यापक डाॅ. अंजना ठाकुर, डाॅ. शबनम खान सहित समस्त प्राध्यापक एवं खिलाडीगण उपस्थित थे। कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन ललिता साहू ने किया।