संस्कृत विभाग में अंतर्विषयक व्याख्यान का आयोजन

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय, राजनांदगांव के प्राचार्य डाॅ.के.एल. टांडेकर के निर्देशानुसार संस्कृत विभाग द्वारा अंतर्विषयक व्याख्यान आयोजित किया गया, जिसमें महाविद्यालय के दर्शनशास्त्र एवं योग विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. एच.एस. अलरेजा ने भारतीय आस्तिक दर्शन विषय पर स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को मार्गदर्शित किया। कार्यक्रम का प्रारंभ वैदिक मंत्रोच्चारण, दीप प्रज्ज्वलन एवं सरस्वती वंदना एवं मुख्य वक्ता डाॅ. एच.एस. अलरेजा के स्वागत के साथ हुआ। तत्पश्चात् डाॅ.अलरेजा ने समस्त षड़ आस्तिक दर्शनों के प्रमुख्य तथ्यों पर सारगर्भित व्याख्यान दिया। कार्यक्रम का संचालन विभागाध्यक्ष डाॅ. दिव्या देशपांडे द्वारा एवं आभार प्रदर्शन अतिथि व्याख्याता श्री स्वामी संवर्धक शर्मा द्वारा किया । इस अवसर पर विभाग के सहायक प्राध्यापक डाॅ. ललित प्रधान आर्य एवं सभी स्नातकोत्तर संस्कृत के विद्यार्थी उपस्थित थे। शान्ति पाठ के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।