’’दिग्विजय में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020/CBCS/LOCF पर आधारित तीन दिवसीय कार्यशाला का सफलतापूर्वक समापन’’

शासकीय दिग्विजय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय राजनांदगांव के सत्र 2022-23 से स्नातक प्रथम वर्ष में सेमेस्टर प्रणाली CBCS /LOCF पर आधारित पाठ्यक्रम लागू किया जाना है।
इसके लिए स्वशासी परीक्षा प्रकोष्ठ एवं प्फ।ब् के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। प्राचार्य डाॅ. के.एल. टाण्डेकर के मार्गदर्शन, स्वशासी परीक्षा प्रकोष्ठ की नियंत्रक डाॅ. अंजना ठाकुर, IQAC के संयोजक डाॅ. के.के. देवांगन के निर्देशन में संकायवार तीन दिनों का कार्यशाला का आयोजन किया गया।
प्रथम दिवस में विज्ञान संकाय के सभी विषयों का कोर्स संरचना के्रडिट प्रणाली, अंक विभाजन, परीक्षा तथा मूल्यांकन प्रणाली पर आधारित कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसका पीपीटी प्रस्तुतिकरण स्वशासी परीक्षा प्रकोष्ठ के उप नियंत्रक तथा कार्यशाला के संयोजक सचिव डाॅ. हेमंत साव द्वारा प्रस्तुत किया गया साथ ही विज्ञान विषय के गणित समूह तथा तीव विज्ञान समूह के लगभग 11 विभिन्न संयोजन तथा उनके मूल्यांकन प्रणाली, पाठ्यक्रम संरचना, विभिन्न प्रकार के कोर्स संरचना – कोर कोर्स, एईसीसी (एबीलिटी इन्हांसमेंट कम्पलसरी कोर्स), स्कील इन्हांसमेंट कोर्स, जेनेरीक इलेक्टीव कोर्स, डीएसई (डीसीप्लीन स्पेसीफिक इलेक्टीव कोर्स) आदि का प्रारूप, अंक विभाजन, के्रडिट संख्याके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई तथा प्रथम दिवस का धन्यवाद ज्ञापन डाॅ. के.के. देवांगन आईक्यूएसी संयोजक द्वारा किया गया।
कार्यशाला का द्वितीय दिवस कला संकाय पर आधारित था जिसका विषय कला संकाय के स्नातक पाठ्यक्रम के सीबीसीएस (च्वाइस बेस्ड के्रडिट सिस्टम) एलओसीएफ (लर्निंग आउटकम बेस्ड करीकूलम फे्रमवर्क) लागू करने के लिए पाठ्यक्रम योजना था। जिसे पीपीटी प्रस्तुतिकरण के माध्यम से स्वशासी परीक्षा प्रकोष्ठ के सहायक नियंत्रक एवं कार्यशाला संयोजक सचिव श्री गोकुल निषाद द्वारा प्रस्तुत किया गया।
कला संकाय के दोनों प्रकार के कोर्स प्रायोगिक तथा बिना प्रायोगिक विषय वाला कोर्स की पाठ्यक्रम संरचना, मूल्यांकन प्रणाली, अंक विभाजन, के्रडिट संख्या तथा परीक्षा प्रणाली पर आधारित विभिन्न प्रकार की जानकारी दी गई। कला संकाय के विभिन्न विभागाध्यक्ष द्वारा कुछ आंशिक संशोधन हेतु सुझाव दिया गया। कला संकाय की कार्यशाला के आभार प्रदर्शन आईक्यूएसी के सदस्य डाॅ. माजिद अली द्वारा किया गया।
कार्यशाला के तृतीय दिवस वाणिज्य संकाय के कोर्स संरचना, मूल्यांकन प्रणाली, के्रडिट प्रणाली पर आधारित पीपीटी प्रस्तुतिकरण स्वशासी परीक्षा प्रकोष्ठ के सहायक नियंत्रक डाॅ. एस.के. उके द्वारा प्रस्तुत किया गया है।
डाॅ. एस.के. उके द्वारा वाणिज्य संकाय के स्नातक के सेमेस्टर प्रणाली के साथ सीबीसीएस प्रणाली एवं एलओसीएफ पर आधारित पाठ्यक्रम संरचना, सभी प्रकार के कोर्स संरचना उनकी कोर्स आउटकम तथा कोर्स आब्जेक्टिव का प्रारूप की विस्तृत जानकारी दी गई। उक्त कार्यशाला का आभार प्रदर्शन आईक्यूएसी सदस्य प्रो. सुमन बोथरा द्वारा किया गया। उक्त कार्यशालाओं में महाविद्यालय के समस्त सहायक प्राध्यापक/प्राध्यापक, आईक्यूएसी के सभी सदस्य एवं स्वशासी परीक्षा प्रकोष्ठ के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी का संपूर्ण सहभागिता से कार्यक्रम सफल रहा।