आजादी के ‘अमृत महोत्सव’ के अंतर्गत रैली एवं कार्यक्रम

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय, राजनांदगांव एवं शासकीय नवीन महाविद्यालय, ठेलकाडीह के संयुक्त तत्वावधान में अमृत महोत्सव के अंतर्गत स्वतंत्रता संग्राम सेनानी प्यारे लाल सिंह ठाकुर के गृहग्राम सेमरा दैहान में प्रारंभ में रैली का आयोजन किया गया। शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के इतिहास विभाग, एन.सी.सी., एन.एस.एस. तथा शासकीय नवीन महाविद्यालय, ठेलकाडीह के एन.एस.एस. के छात्र-छात्राओं द्वारा ग्रामवासियों के सहयोग से रैली का आयोजन किया गया। रैली में छात्र-छात्राओं एवं ग्रामवासियों द्वारा प्यारेलाल सिंह जी अमर रहे के नारे लगाए गए।
श्रद्धांजलि सभा के मुख्य अतिथि श्री भुनेश्वर बघेल विधायक, डोंगरगढ़ तथा अध्यक्ष जनपद पंचायत के सभापति ओमप्रकाश साहू थे। विशिष्ट अतिथि के रुप में ठाकुर प्यारेलाल सिंह के पौत्र आशीष सिंह, ठेलकाडीह महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आलोक मिश्रा, इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. शैलेन्द्र सिंह, श्रीमती विनोदनी लहरे एवं सरपंच श्री रमेश ठाकुर थे। कार्यक्रम का प्रारंभ ठाकुर प्यारेलाल सिंह के चित्र पर माल्यार्पण के साथ हुआ। प्राचार्य डाॅ. आलोक मिश्रा ने कहा कि ठाकुर साहब असिमित प्रतिभा के धनी थे, वे एक अच्छे वकील के साथ-साथ क्रिकेट एवं फुटबाल के भी अच्छे खिलाड़ी थे। ठाकुर साहब की सक्रियता छात्र जीवन से ही था। डाॅ. शैलेन्द्र सिंह ने कहा छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय आंदोलन के दौरान राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने में ठाकुर साहब का महत्वपूर्ण योगदान था। राजनांदगांव मिलमजदूर आंदोलन में उनके नेतृत्व में जिस प्रकार मजदूरी की विजय हुई थी। वह इतिहास में अविष्मरणीय रुप से अंकित है। ठाकुर प्यारे लाल सिंह के पौत्र आशीष सिंह ने कहा कि दादाजी का जीवन सादगी पूर्ण था, छत्तीसगढ़ में सहकारी आंदोलन का श्रेय ठाकुर साहब को जाता है। श्री भुनेश्वर बघेल ने कहा कि ठाकुर साहब के कार्याे से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए, उन्होंने जो कार्य किया वह निसंदेह प्रेरणादायक है। इसलिए उन्हें त्यागमूर्ति की उपाधि प्रदान की गई थी। गांववासियों को ठाकुर साहब के आदर्शाे का पालन करना चाहिए।
संपूर्ण कार्यक्रम में दिग्विजय महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ.बी.एन. मेश्राम के मार्गदर्शन में आयोजित की गई। जिसमें एन.सी.सी. अधिकारी प्रो. हीरेन्द्र बहादूर ठाकुर, प्रो.विकास काण्डे, क्रीडाअधिकारी श्री अरुण चैधरी, ठोलकाडीह महाविद्यालय के एन.एस.एस. अधिकारी श्री लालचंद सिन्हा, प्रो. विनय मसियारे सहित समस्त गांववासी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन ठाकुर प्यारेलाल सिंह के पौत्र देवेन्द्र सिंह ठाकुर द्वारा किया गया। अंत में दिग्विजय महाविद्यापलय के छात्र-छात्राओं द्वारा स्वीप कार्यक्रम के अंतर्गत नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत किया गया तथा समस्त ग्रामवासियों को शत-प्रतिशत् मतदान हेतु शपथ दिलाई गई।