अर्थशास्त्र विभाग द्वारा अतिथि व्याख्यान आयोजित

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय राजनांदगांव के अर्थशास्त्र विभाग द्वारा आयोजित अतिथि व्याख्यान में डाॅ. ज्ञान प्रकाश – विभागाध्यक्ष अर्थशास्त्र देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इन्दौर ने पर्यावरण लागत आकलन व पर्यावरण मूल्य पर व्याख्यान दिया। अपने व्याख्यान में आपने कहा कि विकास के लिये प्राकृतिक संसाधनों का बढ़ता उपयोग पर्यावरण को क्षति पहुंचा रहा है। किसी उद्योग की लागत में पर्यावरण लागत कितनी आती है यह ज्ञात करना आवश्यक है। पर्यावरण क्षति होने पर उसका मूल्य हमें स्वास्थ्य हानि व प्रदुषण विघटन के रूप में चुकाना पड़ता है। जिसका आकलन करना आवश्यक है। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आर.एन.सिंह ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि अपने निवास के आस-पास व अपने गांव/शहर में खाली पड़ी भूमि पर वृक्षारोपण करके आप प्रदुषण को नियंत्रित करने की पहल करें। यह पर्यावरण संरक्षण की दिशा में सही कार्य होगा। व्याख्यान में विभागाध्यक्ष डाॅ. चन्द्रिका नाथवानी, डाॅ. डी.पी. कुर्रे प्राध्यापक, डाॅ. महेश श्रीवास्तव एवं डाॅ. (श्रीमती) मीना प्रसाद सहायक प्राध्यापक ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर विभाग के छात्र उपस्थित थे। छात्रों ने इस तरह के व्याख्यान को ज्ञानवद्र्वक एवं उनके अध्ययन हेतु उपयोगी बताया।