दिग्विजय में राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर परिचर्चा

डा. कस्तुरी रंगराजन की अध्यक्षता में बनी राष्ट्रिय शिक्षा नीति 2019 प्रारूप पर दिग्विजय महाविद्यालय में एक परिचर्चा आयोजित की गई। महाविद्यालय की रूसा इकाई द्वारा आयोजित इस परिचर्चा में प्रभारी प्राचार्य डा. अनिता महेश्वर की अध्यक्षता में प्राध्यापको ने अपने विचार प्रस्तुत किये।
रूसा प्रभारी एवं संयोजक डा. के.एन.प्रसाद ने पावर प्वांइट प्रदर्शन के द्वारा नई शिक्षा नीति के प्रारूप पर संक्षेप में प्रकाश डाला। तत्पश्चात प्राध्यापकों के सुझाव आमंत्रित किये गये।
हिन्दी के प्राध्यापक डा. शंकर मुनी राय ने कहा कि उच्च शिक्षा का संपुर्ण वित्तीय भार केन्द्र शासन को स्वयं वहन करना चाहिये न कि राज्य सरकारो पर इसका बोझ पडे। डा. कुर्रे प्राध्यापक अर्थशास्त्र है ने बताया कि दूरस्थ शिक्षण प्रणाली के कारण छात्रो की शिक्षण गुणवत्ता में गिरावट देखी जा रही है इसका प्रबंधन इग्नु की तरह व्यवस्थित होना चाहिये।
शिक्षक छात्र अनुपात शिक्षण की गुणवत्ता में बाधक है। कई महाविद्यालयों में एक ही शिक्षक पर सौ से दो सौ छात्रों की जिम्मेदारी होती है। यह विचार प्राणीशास्त्र के प्राध्यापक डा. संजय ठिसके ने प्रस्तुत किये।
डा. शैलेन्द्र सिंह ने कहा कि शिक्षण गुणवत्ता के मानक तरीको को न केवल कडाई से लागु किया जाये बल्की समय समय पर इसकी पारदर्शी मानीटरीेंग भी होनी चाहिये। नियमित शिक्षको की नियुक्ति भी शिक्षण व्यवस्था की गिरती गुणवत्ता के लिये काफी हद तक जिम्मेदार है। अतः स्कुल एवं महाविद्यालय स्तर पर शिक्षको की संख्या पर्याप्त होनी चाहिये।
परिचर्चा का समापन करते हुये डा. प्रसाद नें स्नातकोत्तर स्तर पर शोधपरक पाठ्यक्रम की अनिवार्यता को आवश्यक बताया और कहा कि इससे विद्यार्थियों में तथ्यों का संकलन ,प्रोसेेसिंग ,सारणीकरण ,वर्णन एवं विश्लेषण की क्षमता का विकास होगा और समाज को अच्छे नागरिक एवं उच्च शिक्षा में गुणवत्तापुर्ण शोधकर्ताओं की सही भागीदारी सुनिश्चित हो पायेगी।

दिग्विजय में अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी दिवस का आयोजन

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में 17 जुलाई 2019 को एन.सी.सी. इकाई के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी दिवस मनाया गया। इसके अंतर्गत महाविद्यालय में ‘‘मेरी पृथ्वी मेरा कर्तव्य’’ विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस विषय पर एन.सी.सी. कैडेटस पदमीनी धलेन्द्र, जुली शर्मा एवं कु. अश्वनी निषाद ने अपना व्याख्यान प्रस्तुत किये। व्याख्यान पश्चात् कैडेटस के द्वारा रैली निकालकर लोगो से पृथ्वी बचाने एवं इसकी सुरक्षा पर लोगो को ध्यान रखने एवं अपनी जिम्मेदरी सुनिश्चिात करने के लिए अपील किये।
एन.सी.सी. अधिकारी प्रो. संजय देवांगन ने पूरे कार्यक्रम का निर्देशन करते हुए बताया कि युनेस्को द्वारा 21 मार्च 1970 को 192 देशो की सहमति से 22 अप्रैल को प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी दिवस को मनाने की शुरुआत की गई थी। इसका मुख्य उद्देश्य लोगो को पर्यावरण के प्रति संवेदनशील बनाना है। पृथ्वी के पर्यावरण के बारे में प्रशंसा और जागरुकता को प्रेरित करने के लिए पृथ्वी दिवस मनाया जाता है।
इस कार्यक्रम में लगभग 50 कैडेटस उपस्थित थे एवं कार्यक्रम को सफल बनाने में रजिस्ट्रार श्री दीपक कुमार परगनिहा एवं एन.एस. के कार्यक्रम अधिकारी प्रो. नूतन देवांगन का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

दिग्विजय कालेज में मेगा प्रदूषण जागरूकता पखवाड़ा का आयोजन

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में 01 जुलाई 2019 से 11 जुलाई 2019 तक मेगा प्रदूषण जागरूकता पखवाड़ा के अंतर्गत 03 जुलाई को जल प्रदूषण मुक्त दिवस का आयोजन किया गया जिसमें एन.सी.सी. के कैडेटों के द्वारा नगर में जागरूकता रैली निकाली गई तथा विभिन्न स्थानों में लोगों को जल प्रदूषण को रोकने जल का संरक्षण करने हेतु जागरूक किये। 10 जुलाई को कैडेटों के द्वारा रासायनिक फर्टिलाइजर्स के अंधाधुंध उपयोग, रासायनिक प्रदूषण तथा इससे पर्यावरण को होने वाले नुकसान के बारे में लोगों को बताया गया तथा रैली के माध्यम से ऐसे प्रदूषण को रोकने के लिए लोगो को जागरूक किया गया साथ ही जैविक खेती के लाभ पर प्रतिकूल प्रभाव के बारे में जागरूकता अभियान चलाया गया।
कैडेटो के द्वारा इस संबंध में स्व निर्मित पोस्टर एवं नारो का जयकारा लगाया गया, कैडेटों ने महाविद्यालय में प्रवेश हेतु पहुंचे विद्यार्थियो को भी प्रदूषण से पर्यावरण को होने वाली क्षति एवं इसका मानव पर पड़ने वाले दुष्प्रभावो से अवगत कराया एवं अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित करने हेतु संकल्प लिये। साथ ही एन.सी.सी. के कैडेटो को पर्यावरण को बचाने के लिए प्लास्टिक का उपयोग न करने, जल प्रदुषण को रोकने, जल का संरक्षण करने, रासायनिक प्रदूषण को रोकने के लिए शपथ भी दिलाया गया। समस्त कार्यक्रम एन.सी.सी. अधिकारी मेजर के. एल. दामले एवं प्रो. संजय देवांगन के निर्देशन में किया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह द्वारा रैली को रवाना किया गया तथा पर्यावरण को सुरक्षित रखने में एन.सी.सी. के कैडेटों का क्या योगदान है एवं इस संबंध में हमें क्या क्या कार्य और करने होंगे इसके लिए महत्वपूर्ण संबोधन एवं मार्गदर्शन दिया गया। इस कार्यक्रम में प्रो. शैलेन्द्र सिंह का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा।

बिदाई समारोह

दिनांक 03 /07/19 को शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में महाविद्यालय के ग्रंथपाल श्री जे.आर. गर्ग, प्रयोगशाला तकनीशियन श्री जे.आर. पठारी एवं श्री जे.आर. साहू के सेवानिवृत्त होने पर आई.क्यू.ए.सी. द्वारा बिदाई समारोह का आयोजन किया गया।

ग्रामीण शिविरः ग्राम कोटराभाठा

दिनांक ०१ जुलाई २०१९ को शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के समाजकार्य विभाग के द्वारा ग्राम कोटराभाठा में प्राचार्य डॉ. आर. एन. सिंह के निर्देशन में  प्रो. विजय मानिकपुरी के मार्ग दर्शन में एक दिवसीय ग्रामीण शिविर आयोजित किया गया।
इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राजनांदगाव की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री सुरेशा चैबे, प्राचार्य डॉ.आर. एन. सिंह, समाजकल्याण विभाग के उपसंचालक श्री बी. एल. ठाकुर, चाइल्डलाइन के समन्वयक श्री विपिन ठाकुर, जिला बालसंरक्षण अधिकारी श्री चंद्रकिशोर लाडे, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती मधुसुकृत साहू, कोटराभाठा की सरपंच श्रीमती धनेश्वरी साहू एवं अंग्रेज़ी विभागाध्यक्ष डॉ. अनीता शंकर आदि शामिल रहे।
कोटराभाठा में ग्रामीण शिविर के अवसर पर जागरूकता रैली निकली गयी जिसमे गाओं की सभी महिलाएं, पुरुष, स्कूल के बच्चे व् समाजकार्य के विधयार्थी शामिल हुए।
ग्रामीण शिविर में स्वास्थ्य परीक्षण, नेत्र परिक्षण, दन्त परीक्षण, रक्तदान तथा वृक्षरोपण का आयोजन किया गया.साथ ही साथ गाओं के लोगों के मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा नुक्कड़ नाटक रखा गया। गाओं के सभी लोगों ने इस में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया तथा सभी ने इसका लाभ उठाया।
स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में १२० लोगों ने अपना परिक्षण करवाया। नेत्र परीक्षण में 167 आंखों का परीक्षण किया गया। दंत परीक्षण में ८७ लोगों ने अपने दांतों का परीक्षण कराया। २० लोगों ने रक्तदान किया।
सुश्री सुरेशा चैबे ने कहा की हमें अपनी सुरक्षा का ध्यान स्वयं रखना चाहिए. गाड़ी चलाते समय हमेशा हेलमेट या सीटबेल्ट का इस्तमाल करना चाहिए। गाओं की महिलाएं असमाजिक तत्वों को रोकने में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकती हैं। श्री बी.एल.ठाकुर ने समाज कल्याण विभाग की सभी योजनाओं के बारे में गांव वालो को विस्तार से बताया। श्री चंद्रकिशोर लाडे ने बच्चों के अधिकारों के बारे में बताया. श्री विपिन ठाकुर ने कहा की उनकी संस्था में बच्चों का संरक्षण किया जाता है। श्रम अधिकारी श्री आर. के. प्रधान ने गॉव के श्रमिकों को उनके अधिकारों के बारे में जानकारी दी एवं श्रम किट प्रदान की।
गॉव में वृक्षा रोपण के माध्यम से हर्बल उद्यान तैयार किया गया जिसमे न्यू आर्यन नवयुवक मंडल कोटराभांठा के युवाओ ने मुख्य भूमिका निभाते हुवे गड्ढे खोदे एवं पौधो के संरक्षण के लिए तार का घेरा किया गया। राजनांदगॉव के वनमंडल अधिकारी श्री पंकज राजपूत ने निःशुल्क पौधे प्रदान कर विशेष सहयोग प्रदान किया।
महिलाओं एवं बच्चों के मनोरंजन के लिए खेल का आयोजन किया गया जैसे – चूड़ी से साड़ी निकलना, कुर्शी दौड़ एवं केले में आलपिन लगाना। समाजकार्य विभाग द्वारा गॉव के सभी महिला समूहों , प्रतिभागियों ,दसवीं एवं बारहवीं में सर्वोत्तम अंक प्राप्त किये विद्यार्थियों , नवयुवक मंडल को और रक्तदाता को प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में सरपंच श्रीमती धनेश्वरी साहू, सचिव श्री पीताम्बर साहू, सुश्री प्रियंका पैकरा , समाजकार्यविभाग के प्रो. विजय मानिकपुरी ,श्री हरीश चंद्राकर एवं समाजकार्य के सभी विद्यार्थी शामिल हुवे।
कार्यक्रम में जिला अस्पताल ने स्वास्थ्य शिविर एवं रक्तदान शिविर, छत्तीसगढ़डेंटल कॉलेजऐंड रिसर्च इंस्टीट्यूट राजनांदगांव नेदंत परीक्षण, उद्याचलधर्मार्थ नेत्र चिकित्सालय एवं अनुसंधान केन्द्रने नेत्र परीक्षण का आयोजन कर विशेष सहयोग प्रदानकिया।
संस्था के प्राचार्य डॉ आरएन सिंह द्वारा समाज कार्य विभाग की इस कार्य को सराहा गया तथा सभी ग्राम वासियों से अपील किया गया कि वृक्षारोपण के संरक्षण और संवर्धन में ग्राम पंचायत की भूमि का मुख्य रहेगी जो औषधि उद्यान को एक बेहतर पर्यावरण और संदेश देकर ग्रीन हब के रूप में तैयार किया जाना सराहनीय कार्य होगा।
प्रोफेसर विजय मानिकपुरी द्वारा शिविर में स्वागत भाषण देते हुए सभी अतिथियों का स्वागत किया गया एवं शिविर में लाभान्वित सभी लाभार्थियों की संख्या को बताया गया साथ ही साथ ग्रामीण शिविर मेडिकल कैंप स्वास्थ्य परीक्षण पर्यावरण संरक्षण हेतु वृक्षारोपण के महत्व को विस्तृत रूप से बताया गया।

आई.टी. के विद्यार्थियों ने देखा आरोहन बी.पी.ओ. सेंटर

राजनांदगांव, दिनांक 28.06.2019 को प्राचार्य डॉ. आर. एन. सिंह के निर्देशन तथा कंप्यूटर साइंस विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. राजू खूंटे के मार्गदर्शन में शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में संचालित ऐड-ऑन-कोर्स आई.टी. के तीनों वर्ष के छात्र-छात्राओं ने शैक्षणिक भ्रमण कार्यक्रम के अंतर्गत टेड़ेसरा स्थित आरोहन बी.पी.ओ. सेंटर का भ्रमण किया I बी.पी.ओ. सेंटर के ऑपरेशन मैनेजर श्री बुलू साहू ने विद्यार्थियों को बी.पी.ओ. सेंटर के कार्यप्रणाली से अवगत कराया तथा संचालित हो रहे कार्यो को दिखाया I उन्होंने विद्यार्थियों के जिज्ञासा भरे प्रश्नों का बहुत ही आशान तरीके से समाधान भी किया I  इस कार्यक्रम में सहायक परिजोजना अधिकारी श्री देवेंदर जी का विशेष योगदान रहा I इस कार्यक्रम में ऐड-ऑन-कोर्स आई.टी. के तीनों वर्षो के छात्र-छात्रा, विभागाध्यक्ष प्रो. राजू खूंटे, प्रो. आशीष मांडले, प्रो. केवल सिंह तथा नरेंद्र वर्मा उपस्थित थे I

NAAC VISIT to COLLEGE

               The NAAC peer team visited the college on 20th & 21st June, 2019 for Third Cycle Accreditation. The Peer Team members were: Prof. Syed Akheel Ahmed (Chairman) VC, Mysore University, Dr. Ketan Upadhyay (Member Co-ordinator), Professor, MS University, Vadodara, Dr. Ramamohan Kalavendi, Principal, Hyderabad.  The team was extremely co-operative and supportive. The two day visit included departmental presentations, visit to Departments, NCC, NSS, Sports Units, meeting with stakeholders, staff members & students, cultural Programme & Exit Meeting. The suggestions given by the team are highly valuable for our college and will certainly be incorporated towards the growth of our college. more detail –click Here

महाविद्यालय में अन्तर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस का आयोजन

आज दिनांक 26.06.2019 को महाविद्यालय में एन.सी.सी., एन.एस.एस., एम.एस डब्ल्यू व रेडक्रास के संयुक्त तत्वाधान में अन्तर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस मनाया गया।
कार्यक्रम में समाज में व्याप्त नशा के प्रति जागरूकता लाने व नशा के दुष्परिणाम विषय पर व्याख्यान एवं निबंध लेखन का आयोजन हुआ साथ ही नशा से दूर रहने के लिए शपथ भी दिलायी गयी। कर्नल आर.के. अग्रपाल जी के द्वारा विद्यार्थियों युवा शक्ति को नशा से दूर रहने के लिए प्रेरणादायी सम्बोधन दिये तथा समाज में जागरूकता लाने के लिए प्रेरित किया। प्राचार्य डाॅ. आर.एन.सिंह ने भी विद्यार्थियों युवा शक्ति को नशा से दूर रहने के लिए प्रेरणादायी सम्बोधन दिये तथा समाज में जागरूकता लाने के लिए प्रेरित किया। प्राचार्य डाॅ. आर. एन. सिंह ने भी विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि नशा समाज के लिए एक अभिषाप है और इसे दूर करने के लिए युवा शक्ति की अहम भूमिका होती है। कार्यक्रम में 15 विद्यार्थियों ने नशा निषेध संबंधी व्याख्यान भी दिये तथा इतनेे ही विद्यार्थियों ने इस संबंध में निबंध भी प्रस्तुत किये।
इस अवसर पर 38 वीं बटालियन एन.सी.सी. सी.ई.ओ. कर्नल राजेश अग्रवाल, प्राचार्य डाॅ. आर.एन. सिंह, एन.सी.सी. प्रभारी मेजर किरणलता दामलेेेेेे, एन.सी.सी. केयर टेकर प्रो. संजय देवांगन, एन.एस.एस. कार्यक्रम अधिकारी प्रो. नूतन देवांगन व प्रो. संजय सप्तर्षि, रेडक्रास प्रभारी डाॅ. एच.एस. भाटिया, एम.एस.डब्ल्यू के प्राध्यापक श्री विनय मानिकपुरी सहित लगभग 100 विद्यार्थी शामिल हुए। कार्यक्रम का सफल संचालन प्रो. विजय मानिकपुरी द्वारा किया गया।

दिग्विजय महाविद्यालय में रिलायंस जियो का कैम्पस में पांच छात्र छात्राएं चयनित

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में रोजगार एवं मार्गदर्षन प्रकोष्ठ द्वारा रिलायंस जियो कैम्पस का आयोजन दिनांक 26.02.2019 को किया गया। कैपंस के पूर्व प्रकोष्ठ की टीम जिसमें डा. आर.एन.सिंह प्राचार्य ,डा.शैलेन्द्र सिंह, डा.के.एन. प्रसाद एवं प्रकोष्ठ के संयोजक डा. संजय ठिसके ने प्रतिभागी छात्र छात्राओं को जाॅब प्रोफाईल की जानकारी प्रदान की गई तत्पष्चात छात्र छात्राओं का आनलाईन टेस्ट लिया गया। इस कैम्पस में दिग्विजय महाविद्यालय, कमला देवी महाविद्यालय, विज्ञान महाविद्यालय, डोंगरगांव महाविद्यालय, डोंगरगढ़ महाविद्यालय, दुर्ग, भिलाई तथा रायपुर के 80 छात्र छात्राओं ने भाग लिया। इस कैम्पस द्वारा जियो पाइंट असिस्टेंट मैनेजर तथा जियो पाइंट सेल्स आॅफिसर हेतु परीक्षा ली गई। दूसरे चरण में आनलाईन टेस्ट पास परीक्षार्थीयों का साक्षात्कार लिया गया। एवं तीन दिवसीय सर्टिफिकेषन कोर्स के लिये कुल 13 छात्रों का चयन किया गया। इस तीन दिवसीय कोर्स के पष्चात छात्रो को अंतिम आन लाइन चयन प्रक्रिया में शामिल होना पडा और इस अंतिम चयन परीक्षा में सफल होने के पष्चात तीजु साहू, कु. वर्षा कलार , देवेष वर्मा, षिवम कसार एवं खुमेष कुमार को जियो कंपनी में रोजगार प्राप्त हुआ। छात्र देवेष वर्मा एवं षिवम कसार ने चयन के पष्चात महा. के प्राचार्य एवं रोजगार प्रकोष्ठ की टीम को धन्यवाद देते हुये कहा कि इस प्रकार के कैंपस लगातार महा. मे होने चाहिये जिससे स्नातक एवं स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण होने के तुरंत बाद छात्र छात्राएं बेरोजगार न रहे। ज्ञातव्य हो कि दिग्विजय महा. का रोजगार एवं मार्गदर्षन प्रकोष्ठ प्रदेष के समस्त महा. में अग्रणी है जो छात्र छात्रओं को कैंपस के माध्यम से पिछले पाचं वर्षो से लगातार रोजगार प्रदान करने में सफल रहा है। कैम्पस में रोजगार एवं मार्गदर्षन प्रकोष्ठ के रवि कुमार साहू द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गई।

विश्व रक्तदाता दिवस पर सम्मानित हुये समाजकार्य विभाग

राजनांदगांव- शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के समाज कार्य विभाग को विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर एक दिवसीय रक्तदान दिवस का आयोजन किया गया ।
भारतरत्न स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सालय सभाकक्ष में समाजकार्य विभाग द्वारा विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर रक्तदाताओं को सम्मानित करने के उद्देश्य से यह सम्मान समारोह को आयोजित किया गया जिसमें जिसमें जिले के विभिन्न सामाजिक संगठनो को जिन्होंने रक्तदाता के लिए कार्यक्रम रखते है उन्हे और प्रोत्साहित करने हेतु प्रमाण पत्र और शिल्ड के माध्यम से होकर सम्मानित किया गया इसी कड़ी के साथ दिग्विजय महाविद्यालय के सामज कार्य विभाग के छात्र-छात्राओं के द्वारा विशेष सहयोग के लिए प्रमाण पत्र और शिल्ड देकर सम्मानित किया गया। जिसमें समाजकार्य विभाग के प्रो. विजय मानिकपुरी सर के मार्गदर्शन में समाजकार्य विभाग के विद्यार्थी रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।